ISRO ने जारी की ऑर्बिटल द्वारा खींची गई चांद की खूबसूरत तस्वीरें : Chandrayan-2 Photos

ISRO ने जारी की ऑर्बिटल द्वारा खींची गई चांद की खूबसूरत तस्वीरें : Chandrayan-2 Photos

Chandrayan-2 Photos : chandrayan 2 moon mission vikram lander photos latest news today breaking news lunar surface moon chandrayan 2 latest news photos videos isro latest news upcoming moon mission nasa ke sivan news gaganyaan mission मुख्य समाचार

Advertisement
today live news चंद्रयान-2  pm modi news speech today news in hindi





भारत के Chandrayaan-2 की बेहद खूबसूरत तस्वीरें सामने आई है इसरो ने chandrayaan-2 के ऑर्बिटल में लगे high-resolution कैमरों की मदद से चांद की सतह और मिशन से जुड़ी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी की है

आपको पता होगा कि 22 जुलाई 2019 को चंद्रयान-2 को लांच किया गया था और इस मिशन के तहत भारत को चांद की दक्षिणी सताए पार्क लेंडर विक्रम की सॉफ्ट लैंडिंग करानी थी लेकिन अंतिम क्षणों में लेंडर की रफ्तार नियंत्रित ना होने के कारण वह अपने रास्ते से भटक गया और चांद की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग की जगह उसकी हार्ड लैंडिंग हो गई.और इस समय वह अपने निर्धारित स्थान से लगभग 500 मीटर की दूरी पर था इसके बाद लेंडर विक्रम से संपर्क स्थापित करने की बहुत कोशिश की गई लेकिन मुमकिन ना हो पाया!


लेकिन पूरे भारत के लिए अच्छी खबर यह है कि chandrayaan-2 का आर्बिटल अब भी बहुत ही अच्छे से काम कर रहा है और चांद की कक्षा में परिक्रमा करते हुए उसकी high-resolution तस्वीरें अपने कैमरे में कैद कर इसरो को लगातार भेज रहा है


ISRO इसरो ने चंद्रमा की कुछ तस्वीरें जारी की है और इसी के साथ में वैज्ञानिक लगातार इस बात की जानकारी जुटाने में जुटे हुए हैं कि विक्रम लेंडर की लैंडिंग के दौरान गड़बड़ी कहां हुई है हालांकि चांद का यह हिस्सा जाकर अंधेरे में रहता है इस वजह से वहां पर अभी बहुत ज्यादा ठंड हो रही हैसोचने वाली खबर यह कि आज तक किसी देश ने चांद की दक्षिणी सतह पर लेंडर भेजने का प्रयास किया ही नहीं हैऔर इसी कारण इसरो की पूरी दुनिया में जमकर तारीफ की जा रही है

ISRO द्वारा जारी की गई तस्वीरें ऑर्बिटल के हाई-रेजोल्यूशन कैमरे (OHRC) से ली गई हैआपको बता दें कि यह कैमरे चंद्रमा की सतह की हाई रेजोल्यूशन तस्वीरें खींचने के लिए मिशन ऑर्बिटल में इस्तेमाल किए गए हैं


इसके साथ में chandrayaan-2 के आर्बिटल के साथ-साथ नासा के लोनार यान ने भी उस जगह की बहुत सी तस्वीरें खींची है जहां पर लेंडर विक्रम की सॉफ्ट लैंडिंग होनी थीलेकिन अंधेरा होने की वजह से तस्वीरें साफ नहीं आई है और इस कारण से लेंडर विक्रम की फोटो खींचने में लूनर असफल रहा है


इस रोक के द्वारा जो तस्वीरें साझा की गई है उसमें चांद की सतह पर तमाम बड़े बड़े गड्ढे दिखाई गए हैं और यह तस्वीरें 5 सितंबर 2019 को खींची गई थीइसरो के अनुसार इस मिशन में पहली बार OHRC जैसी हाईटेक तकनीक का इस्तेमाल किया गया हैऔर इसकी मदद से चांद की सफाई की अब तक की सबसे हाई रेजोल्यूशन तस्वीरें कैद की गई हैआपको बता दें की आर्बिटल दो चंद्रमा से 100 किलोमीटर की ऊंचाई पर कक्षा में चक्कर लगा रहा है और वहां से इतनी क्लियर तस्वीरें इसरो तक पहुंचाई गई हैं


अगर जानकारी पसंद आए तो प्लीज शेयर कीजिए

If you have any query of this Post, Please commnet below. Thank You

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!